Monday 5 January 2009

राष्ट्रीय स्वयमसेवक संघ की प्रार्थना

आज मन हुआ कि लोगों का साक्षात्कार हमारी नित्य प्रार्थना से कराऊँ ।
मूल संस्कृत प्रार्थना जिस विकिपीडिया आर्टिकल से ली गई, वह यहाँ है.
प्रार्थना को सुनने के लिए यहाँ जायें http://www.geetganga.org/

प्रार्थना का हिन्दी अनुवाद एवं प्रार्थना विषयक अन्य जानकारी आगे इसी पोस्ट में डालता रहूँगा , देखते रहिएगा

नमस्ते सदा वत्सले मातृभूमे
त्वया हिन्दुभूमे सुखं वर्धितोहम् ।
महामङ्गले पुण्यभूमे त्वदर्थे
पतत्वेष कायो नमस्ते नमस्ते ।।१।।
प्रभो शक्तिमन् हिन्दुराष्ट्राङ्गभूता
इमे सादरं त्वां नमामो वयम्
त्वदीयाय कार्याय बध्दा कटीयं
शुभामाशिषं देहि तत्पूर्तये ।
अजय्यां च विश्वस्य देहीश शक्तिं
सुशीलं जगद्येन नम्रं भवेत्
श्रुतं चैव यत्कण्टकाकीर्ण मार्गं
स्वयं स्वीकृतं नः सुगं कारयेत् ।।२।।

समुत्कर्षनिःश्रेयस्यैकमुग्रं
परं साधनं नाम वीरव्रतम्
तदन्तः स्फुरत्वक्षया ध्येयनिष्ठा
हृदन्तः प्रजागर्तु तीव्रानिशम् ।
विजेत्री च नः संहता कार्यशक्तिर्
विधायास्य धर्मस्य संरक्षणम् ।
परं वैभवं नेतुमेतत् स्वराष्ट्रं
समर्था भवत्वाशिषा ते भृशम् ।।३।।

।। भारत माता की जय ll

प्रार्थना विषयक बौद्धिक सुनाने के लिए, यहाँ दबाएँ. .

1 comment:

  1. I am now living in the US. Whenever I hear the prarthana, tears well up in my eyes.

    Keep up the good work.

    Amrish

    ReplyDelete